Navabharat Hindi Newspaper
No Comments 20 Views

भारत ने पाक को हॉकी में 7-1 से ठोका, सेना पर हमलाें के विराेध में टीम ने पहनी काली पट्टी

लंदन. दुनियाभर की निगाहें जब भारत और पाकिस्तान के बीच आईसीसी चैंपियंस ट्राफी के खिताबी मुकाबले पर टिकी हुई थीं तो लंदन में दूसरी ओर भारतीय हॉकी टीम ने विध्वंसक प्रदर्शन करते हुये पाकिस्तान को एफआईएच वर्ल्ड लीग हॉकी सेमीफाइनल के पूल बी मैच में 7-1 से रौंदकर जीत की हैट्रिक पूरी कर ली. भारतीय टीम इस जीत के साथ पूल बी में नौ अंकों के साथ शीर्ष पर पहुंच गयी है. भारत ने इससे पहले स्काटलैंड को 4-1 से और कनाडा को 3-0 से पीटा था. पाकिस्तानी टीम इससे पहले हॉलैंड से 0-4 से और कनाडा से 0-6 से करारी शिकस्त खा चुकी थी. पाकिस्तान को इस तरह लगातार दूसरे मैच में बड़ी हार का सामना करना पड़ा. भारत की जीत में ड्रैग फ्लिकर हरमनप्रीत सिंह, तलविंदर सिंह और आकाशदीप सिंह ने दो-दो गोल किये जबकि प्रदीप मोर ने एक अन्य गोल किया. पाकिस्तान का एकमात्र गोल मोहम्मद उमर ने किया. भारत और पाकिस्तान के बीच हॉकी के इस मुकाबले से ज्यादा लोगों की निगाहें लंदन के ओवल मैदान पर दोनों देशों की क्रिकेट टीमों के मैच पर लगी हुई थीं. मनप्रीत सिंह की कप्तानी वाली भारतीय टीम ने गज़ब का प्रदर्शन करते हुये पाकिस्तान को शर्मनाक शिकस्त का स्वाद चखा दिया. भारत ने पहले हाफ में ही 3-0 की बढ़त बना ली थी जिसके बाद पाकिस्तान के पास वापसी करने का कोई मौका नहीं रह गया था. टीम इंडिया का पहला गोल ड्रैग फ्लिकर हरमनप्रीत ने 13वें मिनट में पेनल्टी कार्नर पर किया. उनके शानदार शॉट ने पाकिस्तान के गोलकीपर अमज़द अली को छका दिया. हरमनप्रीत का टूर्नामेंट में यह दूसरा गोल था. दूसरे क्वार्टर में 21वें मिनट में तलविंदर ने बायें छोर से सरदार सिंह के शानदार प्रयास पर गोल किये. एस वी सुनील ने गेंद को डिफ्लेक्ट किया और तलविंदर ने अंतिम क्षणों में गेंद काे गोल में पहुंचा दिया. तलविंदर ने 24वें मिनट में एक और शानदार गोल कर भारत को 3-0 से आगे कर दिया. दूसरे हाफ के शुरू होते ही हरमनप्रीत ने भारत के चौथे पेनल्टी कार्नर पर पाकिस्तान के गोल का तख्ता खड़का दिया. भारत अब 4-0 से आगे हो गया है. आकाशदीप सिंह ने 47वें मिनट में भारत का पांचवां गोल दाग दिया. आकाशदीप ने गेंद संभालने के बाद अपने लिये जगह बनाई और उनके शॉट को रोकने का गोलकीपर अमज़द अली के पास कोई मौका नहीं था. आकाश का टूर्नामेंट में यह तीसरा गोल था. उन्होंने अब तक तीनों ही मैचों में एक एक गोल किया है. रही सही कसर प्रदीप मोर ने 49वें मिनट में एक मुश्किल कोण से खूबसूरत गोल कर पूरी कर दी. भारत अब 6-0 से आगे हो चुका था. छह गोल खाने के बाद पाकिस्तान ने अपना गोलकीपर बदल दिया. अमज़द अली बाहर चले गये और हज़र अब्बास को उनकी जगह उतारा गया. हज़र के आने के बाद पाकिस्तान को उसका पहला गोल मिल गया. मोहम्मद उमर ने 57वें मिनट में मैदानी गोल से हार का अंतर कम किया. लेकिन 59वें मिनट आकाशदीप ने अपना दूसरा गोल दागते हुये भारत को 7-1 सेे जीत दिला दी. आकाशदीप का टूर्नामेंट में यह चौथा गोल था. आकाश अब टूर्नामेंट में सर्वाधिक गोल के मामले में अर्जेंटीना के गोंजालो पिलेट के बाद दूसरे नंबर पर आ गये हैं. गोंजालो के छह गोल हैं. भारत का अगला मुकाबला 20 जून को हॉलैंड से होगा जबकि इससे एक दिन पहले 19 जून को पाकिस्तान की टीम स्काटलैंड से भिड़ेगी.

सेना पर हमलाें के विराेध में हॉकी टीम ने पहनी काली पट्टी
भारतीय पुरूष हाॅकी टीम ने रविवार काे हाॅकी वर्ल्ड लीग सेमीफाइनल में चिर प्रतिद्वंद्वी पाकिस्तान के खिलाफ मुकाबले में भारतीय सेना पर हो रहे हमलों के विरोध और शहीदों की याद में काली पट्टी पहन कर मैच खेला. भारतीय टीम ने जबरदस्त प्रदर्शन करते हुये इस मैच में पाकिस्तानी टीम को 7-1 के बड़े अंतर से धो दिया. ली वैली हॉकी और टेनिस स्टेडियम में हुये इस मैच में जब भारतीय खिलाड़ी मैदान पर उतरे तो उनकी बांहों पर काली पट्टी बंधी हुई थी जबकि टीम के सपोर्ट स्टाफ ने भी यह काली पट्टी पहनी थी. पूल बी की भारतीय टीम ने इससे पहले स्काटलैंड को 4-1 से और कनाडा को 3-0 से हराया और पाकिस्तान के खिलाफ एकतरफा जीत से अपनी हैट्रिक भी पूरी कर ली. चिर प्रतिद्वंद्वी टीम के खिलाफ मैच में भारतीय कप्तान और मिडफील्डर मनप्रीत सिंह की अगुवाई में टीम और सपोर्ट स्टाफ ने बाहों पर काली पट्टी पहन कर हाल में भारतीय सेना पर हुये हमलों का विरोध जताया और साथ ही मारे गये शहीदों को श्रद्धांजलि भी अर्पित की. हॉकी टीम हमेशा ही भारतीय सैनिकों के समर्थन में खड़ी रही है और सेना पर आतंकवादी हमलों का उसने विरोध जताया है. इससे पहले वर्ष 2016 एशियन चैंपियंस ट्राफी की जीत को भी पी आर श्रीजेश ने सेना को ही समर्पित किया था. भारत ने यह खिताब पाकिस्तान को फाइनल में हराकर जीता था. हॉकी इंडिया के महासचिव मोहम्मद मुश्ताक अहमद ने कहा“ भारतीय टीम ने हमेशा ही सेना में भरोसा जताया है. टीम ने सेना को अपनी जीत समर्पित की है और पाकिस्तान के खिलाफ इस मैच में टीम को यह अनुभव हुआ कि उन्हें जम्मू कश्मीर में भारतीय सेना पर हुये हमलों का विरोध जताना चाहिये जिसमें हमारे कई सैनिक मारे गये. यह हमारी टीम का एकमत निर्णय था. हम उम्मीद करते हैं कि जम्मू कश्मीर में शांति स्थापित हो.” पाकिस्तान को एकतरफा अंदाज में हराने के बाद कप्तान मनप्रीत ने कहा“ हम इस मैच को जीतकर दिखाना चाहते थे कि न सिर्फ हमें अपने देश पर गर्व है बल्कि पूरी दुनिया को कहना चाहते थे कि हम हमेशा इसके खिलाफ खड़े रहेंगे.”

About the author:
Has 4496 Articles

LEAVE YOUR COMMENT

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Contact Us
Navabharat Press Complex Maudhapara , GE Road Raipur Chhattisgarh - 492001
NEWSLETTER

Back to Top