Navabharat Hindi Newspaper
No Comments 22 Views

पुरुषों के मुकाबले महिलाओं में बढ़ रही है डेस्क जॉब प्रॉब्लम्स

हाल ही में डॉक्टरों की रिपोर्ट से पता चला है कि डेस्क जॉब करने वाले हर 1 पुरुष के मुकाबले 10 महिलाएं पीठ के ऊपरी हिस्से, कंधे और गर्दन में दर्द का अनुभव करती हैं.  लेकिन डॉक्टरों की मानें तो अगर आप उठने बैठने के तौर तरीकों को बदल लें तो दर्द से छुटकारा मिल सकता है.  आगे की स्लाइड्स में जानें, कैसे…
2/8परेशानी बढ़ा रहा है डेस्क जॉब परेशानी बढ़ा रहा है डेस्क जॉब
इंडियन स्पाइनल इंजुरीज सेंटर में स्पाइन सेवा और चिकित्सा निदेशक डॉ. एच. एस. छाबड़ा बताते हैं, ‘डेस्क जॉब अब पहले की तुलना में अधिक परेशानी पैदा कर रहे हैं.  काम के घंटे लंबे होते हैं, तनाव अधिक रहता है और कंप्यटूर पर काम करने के कारण लोगों को एक विशेष पोश्चर में ही रोजाना 8-10 घंटे काम करना पड़ता है. ‘ डॉक्टर्स की मानें तो महिलाएं दफ्तर से घर जाने के बाद, घर के काम निपटाती हैं और फिर लैपटॉप लेकर बैठ जाती हैं.  अक्सर वे बिस्तर पर भी लैपटॉप का इस्तेमाल करती हैं और इस दौरान उनका पोश्चर गलत होता है.
3/8फिजिकली ऐक्टिव होने की जरूरत फिजिकली ऐक्टिव होने की जरूरत
महिलाएं व्यायाम के लिए भी मुश्किल से समय निकाल पाती हैं.  जब शरीर का दर्द असहनीय हो जाता है तो महिलाएं पेनकिलर खा लेती हैं और जब यह पैटर्न बन जाता है तो इसका असर बॉडी ऑर्गन्स पर पड़ना शुरू हो जाता है.  डॉक्टर अजय कहते हैं, आपके शरीर के ऊपरी हिस्से में होने वाला दर्द इस बात का संकेत है कि आप अब उठकर थोड़ा टहलें.  आपको फिजिकल तौर पर ज्यादा ऐक्टिव होने की जरूरत है.  अगर आप ऐक्टिव नहीं रहेंगे, तो आपको मोटापा, मसल्स कमजोर होने जैसी अन्य समस्याओं के होने का खतरा हो सकता है.  इससे आपको कई दूसरे तरह के दर्द के साथ-साथ हार्ट प्रॉब्लम्स, डाइबीटीज और हाई ब्लड प्रेशर जैसी बीमारियां हो सकती हैं.
4/8अपने डेस्क की जांच करें अपने डेस्क की जांच करें
सबसे पहले, अपने डेस्क की जांच करें.  सही पोजिशन यह है कि आप अपनी कुर्सी पर बैठें तो आपकी पीठ को पीछे से सहारा मिलता रहे.  आपके पैर जमीन के समानांतर हों और आपके पांव जमीन पर फ्लैट रखे होने चाहिए.  हर 30 से 40 मिनट पर अपनी मुद्रा को बदलते रहना चाहिए.  कीबोर्ड और माउस आपकी जांघ से सिर्फ कुछ इंच ऊपर होने चाहिए और वे इस प्रकार रखे होने चाहिए कि उसे चलाने में आपके हाथ के अगले हिस्से को कोई परेशानी न हो.  स्क्रीन का ऊपर का हिस्सा आंख के लेवल पर होना चाहिए और स्क्रीन एक हाथ की दूरी पर होनी चाहिए.  कम्प्यूटर में ऐंटी-ग्लेयर स्क्रीन लगाएं, ताकि आपको अपनी गर्दन को आगे करने की जरूरत न पड़े.
5/8दर्द की रोकथाम करें दर्द की रोकथाम करें
जरूरी है हमारे लिए सही पोश्चर में बैठकर काम करना.  ऐसा करना सभी मांसपेशियों का इस्तेमाल कर संभव है.  ऐसा करने के लिए, अपना फोन हैंड्स-फ्री कर दें, ताकि आप फोन पर बात करते समय अपने ऑफिस में टहल सकें.  इसके अलावा, हर घंटे कुछ आसान व्यायाम और स्ट्रेचिंग जरूर करें.

LEAVE YOUR COMMENT

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Contact Us
Navabharat Press Complex Maudhapara , GE Road Raipur Chhattisgarh - 492001
NEWSLETTER

Back to Top