Trending

गोरखनाथ मंदिर कर सुरक्षा व्यवस्था बढ़ी

Mar 20 • ज्योतिष • 2 Views • No Comments on गोरखनाथ मंदिर कर सुरक्षा व्यवस्था बढ़ी

1 Star2 Stars3 Stars4 Stars5 Stars (No Ratings Yet)
Loading...

गोरखपुर. गोरक्षपीठाधीश्वर आदित्यनाथ योगी के मुख्यमंत्री बनने के बाद गोरखपुर स्थित उनके गोरखनाथ मंदिर की सुरक्षा व्यवस्था चाक चौबंद कर दी गयी है. वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक राम लाल वर्मा ने आज बताया कि गोरखनाथ मंदिर की सुरक्षा वैसे तो पहले से ही चाक चौबंद है लेकिन योगी आदित्यनाथ के मुख्यमंत्री बनने के बाद इसेे और मजबूत किया गया है. उन्होंने बताया कि मंदिर परिसर में सीसी टीवी कैमरे लगा दिये गये हैं. मुख्यमंत्री के यहां मौजूद रहने पर ड्रोन कैमरे से मंदिर की निगरानी करने की योजना है. मंदिर परिसर में स्थित योगी आदित्यनाथ आवास के चारो तरफ सुरक्षा घेरा बढ़ा दिया गया है. सुरक्षा में चार पुलिस उपाधीक्षक समेत बड़ी संख्या में उपनिरीक्षक, सिपाही और पीएसी के जवान तैनात किये गये हैं. मंदिर में मुख्यमंत्री की सुरक्षा व्यवस्था की जांच पड़ताल के लिए लखनऊ से आये एक वरिष्ठ अधिकारी ने गोरखपुर में डेरा डाल दिया है. वर्मा ने बताया कि मंदिर में तीन कम्पनी पीएसी तैनात कर दी गयी है. मंदिर के प्रवेश द्वारों पर अब कड़ी जांच पड़ताल के बाद ही लोगों को अंदर जाने दिया जायेगा. उन्होंने बताया कि मंदिर परिसर में स्थित मुख्यमंत्री आवास और कार्यालय की तरफ किसी भी अनजान व्यक्ति को नहीं जाने दिया जायेगा. इसके लिए चार जगहों पर बेरीकेडिंग लगायी गयी है. प्रत्येक बेरीकेडिंग पर चार उपनिरीक्षक और 16 सिपाही तैनात किये गये हैं. वर्मा ने बताया कि मंदिर की सुरक्षा में पहले एक निरीक्षक, पांच उप निरीक्षक, 13 दीवान और 70 सिपाही तैनात होते थे, लेकिन अब चार क्षेत्राधिकारी भी तैनात कर दिये गये हैं. इसके साथ 12 निरीक्षक, 50 उपनिरीक्षक, 300 सिपाही, तीन सेक्शन पीएसी, डाक स्क्वायड और बम निरोधी दस्ता भी मंदिर की सुरक्षा में लगा दिया गया है. गौरतलब है कि योगी आदित्यनाथ को सांसद के तौर पर वाई श्रेणी की सुरक्षा पहले से मिली होने से केंद्रीय औद्योगिक सुरक्षा बल (सीआइएसएफ) के दो अधिकारी और 11 जवान, पांच एमपी गन के साथ रहते हैं. सीआइएसएफ जवान गोरखनाथ मंदिर और दिल्ली स्थित उनके आवास में 24 घंटे मौजूद रहते थे. उन्होंने बताया कि मुख्यमंत्री के गोरखपुर आने पर उनकी फ्लीट में 16 गाड़ियां लगायी जायेंगी. फ्लीट में लगने वाली गाड़ियों की जांच परख कर तैयार कर लिया गया है. इसके अलावा जैमर लगी दो गाड़ियां भी फ्लीट में लगायी जायेगी.
उन्हाेंने बताया कि वह गोरखपुर परिक्षेत्र के पुलिस उप महानिरीक्षक को पत्र लिखकर मुख्यमंत्री की सुरक्षा के लिए दूसरे जिलों से पुलिस बल उपलब्ध कराने की मांग की है. आदित्यनाथ योगी के मुख्यमंत्री बनने के बाद उनके एक-दो दिन में गोरखपुर आने की सम्भावना को देखते हुए अधिकारी अभी से उनके सुरक्षा इंतजाम में जुट गये है.

Related Posts

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

« »