0.00

नक्सलियों की खिलाफत करने वाले साहसी ग्रामीणों को आरक्षक की नौकरी

जगदलपुर. नक्सल प्रभावित क्षेत्रों में अदम्य साहस का परिचय देकर नक्सलियों कि खिलाफत करने वााले साहसी ग्रामीणों को जल्द ही आरक्षक की नौकरी का तोहफा मिलेगा. इस मसले पर सुकमा और बस्तर पुलिस अधीक्षक की अनुशंसा पर बस्तर पुलिस महानिरीक्षक ने मुहर लगा दी. दोनो जिलों में 6 महिला व पुरूष ग्रामीणों को मिलने वाली आरक्षक की नौकरी के पीछे उनके अदम्य साहस को बताया जा रहा है. हालही में नक्सल प्रभावित संवेदनशील क्षेत्रों में इन ग्रामीणों को नक्सलियों के आत्मसमर्पण में भी महत्वपूर्ण भूमिका रही है. पुलिस मुठभेड़ में इनसे प्राप्त सूचनाएं कारगर रही है. बस्तर अंचल में पुलिस की लागातार अक्रामक कार्रवाई के चलते नक्सली जहां एक ओर बैकफुट पर हैं, वहीं ग्रामीण जन भी खुलकर नक्सलवाद के खिलाफ सामने आने लगे हैं और पुलिस के लिए एक सहयोगी की भूमिका बखूबी निभा रहे है. इसी भावना को प्रोत्साहित करने के उददेश्य से पुलिस अधीक्षक राजेन्द्र नारायण दास व सुकमा पुलिस अधीक्षक आई के एलेसेला ने आरक्षक बनाने की अनुंशसा की है इनमें तीन की पदस्थापना सुकमा व शेष तीन की बस्तर जिले में होनी है.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *